नापाक हरकत: पाक सेना की फायरिंग में कैप्टन सहित चार सैनिक शहीद

श्रीनगर। कुछ दिन की खामोशी के बाद पाकिस्तानी रेंजर्स ने एकबार फिर जम्मू-कश्मीर के राजौरी और पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा पर रविवार को गोलाबारी की। इसमें गुड़गांव निवासी कैप्टन कपिल कुंडू समेत चार जवान शहीद हो गए। हमले में दो नाबालिग समेत चार लोग घायल हो गए। भारतीय सेना ने भी पाक की इस हरकत का मुंहतोड़ जवाब दिया।

सैन्य अधिकारियों ने बताया कि रविवार शाम संघर्षविराम का उल्लंघन करते हुए पाकिस्तानी रेंजर्स ने राजौरी के भीमबेर गली सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास भारी गोलाबारी और बमबारी की। इसमें गुड़गांव के रांसिका गांव निवासी कैप्टन कपिल कुंडू, ग्वालियर निवासी राइफलमैन रामवतार, कठुआ निवासी राइफलमैन शुभम सिंह, सांबा निवासी हवलदार रोशन सिंह शहीद हो गए। 22 वर्षीय कैप्टन का छह दिन बाद यानी 10 फरवरी को ही जन्मदिन था। इससे पहले पाकिस्तानी रेंजर्स ने जिले के मंजकोट सेक्टर में दो गांवों को निशाना बनाते हुए मोर्टार के गोले दागे। हालांकि इसमें कोई हताहत नहीं हुआ।

रविवार सुबह पुंछ जिले के शाहपुर सेक्टर में पाक की गोलाबारी में दो नागरिक शाहनाज बानो (15), यासीन आरिफ (14) और एक जवान घायल हो गए। पाक रेंजर्स ने नियंत्रण रेखा से लगते अग्रिम चौकियों और गांव को निशाना बनाया था। यहां भी रूक रूक कर गोलीबारी जारी है।

तीन दिनों के लिए स्कूल बंद

पाकिस्तानी की तरफ से की जा रही गोलीबारी और गोलाबारी के मद्देनजर राजौरी में नियंत्रण रेखा के पांच किलोमीटर के दायरे में सभी 84 स्कूलों को तीन दिनों के लिए बंद कर दिया गया है। राजौरी के उपायुक्त शाहिद इकबाल ने यह जानकारी दी।

घरों के अंदर रहने की सलाह
राजौरी में सीमा से सटे इलाकों में अलर्ट जारी किया गया है। अधिकारियों ने लोगों को घर से न निकलने की सलाह दी है।

गोलियों से दें पाक को जवाब
गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को कहा, सुरक्षाबलों को आदेश दे दिया गया है कि पाकिस्तान की तरफ से की गई गोलीबारी का जवाब अनगिनत गोलियों से दें।

इसलिए बौखलाया पाक

भारत की ओर की गई सर्जिकल स्ट्राइक, आतंकियों और पाकिस्तानी रेंजर्स के खिलाफ कार्रवाई से पाक बौखलाया हुआ है। हाल के दिनों में आतंकी फंडिंग पर नकेल कसने और कश्मीर में मुख्यधारा में शामिल हो रहे आतंकियों को देखते हुए पाक तिलमिलाया हुआ है और ऐसी घटनाओं को अंजाम देने की फिराक में है।
कब कहां हमला

सुबह 11.10 बजे: पुंछ के शाहपुर सेक्टर में मोर्टार से हमला।
दोपहर बाद 3.40 बजे: राजौरी के मनकोट सेक्टर में।
शाम 6.15 बजे: राजौरी के भीमबेर गली सेक्टर में।

महबूबा मुफ्ती ने दुख जताया

पाकिस्तानी गोलाबारी में शहीद हुए जवानों के प्रति जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने दुख जताया है। उन्होंने कहा, शहीद के परिजनों के प्रति मेरी संवेदना है।

कब क्या हुआ
-138 पाक सैनिक मारे गए 2017 में एलओसी पर
–155 पाकिस्तानी जवान पिछले साल भारत की जवाबी कार्रवाई में घायल हुए
-28 भारतीय जवान भी शहीद हुए इस दौरान
-860 बार पाक ने संघर्षविराम का उल्लंघन किया 2017 में
-221 बार पाक ने संघर्षविराम का उल्लंघन किया था 2016 में
-27 पाकिस्तानी सैनिकों को भारतीय स्नाइपर ने मार गिराया
-5 पाकिस्तानी सैनिक मारे गए थे पिछले साल दिसंबर के अंतिम हफ्ते में।