शिवरात्रि पर ना करें ये काम नहीं तो भोले बाबा हो जाएंगे नाराज

देवो के देव महादेव को प्रसन्न करने के लिए शिवरात्रि का दिन बेहद ही उचित माना जाता है. मान्यता है कि शिवरात्रि के दिन सच्चे मन से भोलेनाथ को फूल, भांग और प्रसाद अपर्ति करने से वह खुश होते हैं और मन चाहा वर देते हैं. शिवरात्रि के दिन पूजा तो हर कोई करता है कि, लेकिन पूजा के बाद कुछ चीजों का ध्यान रखना अति आवश्यक है. आज हम आपको बताएंगे कि शिवरात्रि के दिन पूजा करते वक्त किस बात का ध्यान रखना चाहिए. ताकि भोलेनाथ को प्रसन्न किया जा सके. महादेव की पूजा विधि की तमाम जानकारी देने वाले शिवपुराण में कुछ ऐसी बातें बताई गई हैं, जो अगर शिवरात्रि के दिन किए जाए तो भक्त पर कृपा के स्थान पर क्रोध बरसता है. तो चलिए शिवरात्रि से एक दिन पहले जानते हैं कि पूजा करने के साथ ऐसे कौन से काम है, जिनको करने से शिवजी आपसे नाराज हो सकते है.

अपमान न करें: शिवरात्रि की पूजा करें या ना करें हमें कभी भी अपने से बुजुर्ग को किसी भी हालात में अपमानित नहीं करना चाहिए. किसी बुजुर्ग व्यक्ति, गुरु, भाई-बहन, जीवन साथी, माता-पिता, मित्र और ज्ञानी लोगों का अपमान गलती कभी हो जाता है तो हमें वक्त रहते क्षमा मांग लेनी चाहिए. ऐसा कहा जाता है कि शिवरात्रि के दिन बड़े-बुजुर्गों का अपमान करने से शिवजी नाराज हो जाते हैं.

शिवलिंग पर ना चढ़ाएं तुलसी : शास्त्रानुसार मान्यता है कि शिवलिंग पर कभी भी तुलसी नहीं अर्पित करनी चाहिए. शास्त्रों में तुलसी को भगवान विष्णु पर चढ़ाने के लिए शुद्ध माना गया है लेकिन शिवलिंग पर इसे चढ़ाना वर्जित माना गया है.

हल्दी से करिए परहेजः शिवजी की पूजा करते वक्त ध्यान रखिए की आप शिवलिंग पर हल्दी नहीं चढ़ानी चाहिए. शास्त्रानुसार शिवलिंग पुरुष तत्व से संबंधित है और ये शिवजी का प्रतीक है. इस कारण शिवलिंग पर नहीं, बल्कि जलाधारी पर हल्दी चढ़ानी चाहिए.

प्रातःकाल करें पूजाः शिवरात्रि के दिन जितनी सुबह हो सके शिवजी की अराधना करें. जल्दी जागें और स्नान आदि कार्यों के बाद शिवजी की पूजा करें. अगर आप देर तक सोते हैं और इस कारण देर से पूजा करते हैं तो आपको भी शिवजी की नाराजगी का सामना करना पड़ सकता है.