बाजारों में बरसा धन, पौने तीन सौ करोड़ से ज्यादा का कारोबार

धनतेरस पर बाजारों में जमकर धन बरसा। शुभ मुहूर्त में खरीदारी के लिए उमड़ी भीड़ ने सड़कों-चौराहों को जाम कर दिया। मंगलवार अल सुबह से आधी रात के बाद तक खरीदारी का उत्साह बरकरार रहा। शहर के तमाम बाजारों में कारोबार का आंकड़ा करीब पौने तीन सौ करोड़ रुपए के पार पहुंच गया।

सबसे ज्यादा कारोबार आभूषण और रत्नों के बाजार में हुआ। ऑटोमोबाइल और इलेक्ट्रॉनिक सेक्टर में भी जमकर उत्साह नजर आया। धनतेरस रियल इस्टेट कारोबारियों के चहरे पर भी मुस्कान बिखेर गई।

बाजार के प्रमुख कारोबारियों और व्यापारिक संगठनों के मुताबिक ज्वेलरी मार्केट में धनतेरस पर सवा सौ करोड़ रुपए से ज्यादा की बिक्री हुई। ज्वेलरी शोरूम्स पर शुभ मुहूर्त में सुबह से खरीदार पहुंचने लगे थे। परंपरागत सराफा बाजार से लेकर एमजी रोड व एबी रोड के शोरूम्स तक में आधी रात तक खरीदारी का सिलसिला जारी था।

सराफा बाजार एसोसिएशन के अध्यक्ष हुकम सोनी के मुताबिक कृष्णपुरा पर ट्रैफिक रोकने के कारण दिन में ग्राहकों को बाजार पहुंचने में परेशानी हुई। शाम से बाजार में ग्राहकों की अच्छी खासी भीड़ नजर आई। इंदौर ऑटोमोबाइल एसोसिएशन अध्यक्ष प्रवीण पटेल के मुताबिक धनतेरस पर शहर के शोरूम्स से 1200 से 1300 कारें, करीब साढ़े चार हजार टू-व्हीलर के साथ करीब 300 कमर्शियल व्हीकल की बिक्री के साथ आंकड़ा करीब 70 करोड़ तक पहुंचने का अनुमान है।

रियल इस्टेट सेक्टर में कारोबार और बुकिंग अमाउंट का आंकड़ा करीब 40 करोड़ रहा। बर्तन और किचनवेयर में शुभमुहूर्त के दौरान 5 करोड़ रुपए से ज्यादा की बिक्री दर्ज की गई। लोटस इलेक्ट्रॉनिक्स के डायरेक्टर गौरव पाहवा के मुताबिक इलेक्ट्रॉनिक मार्केट में करीब 50 करोड़ से ज्यादा की बिक्री एक ही दिन में दर्ज हुई। धनतेरस की बिक्री से तमाम कंपनियां उत्साहित हैं। खरीदारी का सिलसिला दीपावली तक बदस्तूर जारी रहेगा।

किस क्षेत्र में कितना व्यवसाय

– रत्न-आभूषणों में 125 करोड़

– ऑटोमोबाइल में 70 करोड़

– इलेक्ट्रॉनिक्स में 50 करोड़

– बर्तन किचनवेयर में 5 करोड़

– रियल इस्टेट में 40 करोड़