सिंधिया के निशाने पर मोदी-शिवराज, कहा- जुमलों की सरकार के अंत का वक्त

भोपाल। कोलारस-मुंगावली में होने वाले उपचुनाव के लिए प्रदेश की दोनों मुख्य पार्टियां कमर कस चुकी हैं। आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी जोर पकड़ चुका है। इसी क्रम में कांग्रेस की ओर से मोर्चा संभाल रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भोपाल में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान सूबे की शिवराज सरकार के साथ ही पीएम मोदी पर भी जमकर निशाना साधा।

उपचुनाव पर बोलते हुए सिंधिया ने कहा कि मुंगावली और कोलारस उपचुनाव की लड़ाई सच्चाई और असत्य की लडाई है। उन्होंने कहा कि मुंगावली और कोलारस की जनता सरकार को कड़ा जवाब देगी। उन्होंने शिवराज सरकार को घोषणावीर सरकार बताते हुए कहा कि पंचायत सचिवों और अध्यापकों को मायाजाल में नहीं फंसना चाहिए।

सिंधिया ने शिवराज सरकार पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि जिस सरकार ने मप्र में कहीं भी विकास नहीं किया है, जिस सरकार ने किसानों के साथ अन्याय किया हो, जिस सरकार के कार्यकाल में महिलाएं इतनी असुरक्षित हों, बेरोजगारी का कैंसर पूरे प्रदेश में फैला हो, उस सरकार को कड़े से कड़ा जवाब कोलारस और मुंगावली की जनता संदेश के रूप में पूरे मप्र के लिए देगी इसका मुझे पूरा विश्वास है।

‘जुमलों की सरकार के अंत का वक्त’
इसके साथ ही सिंधिया ने बेरोजगारी के मुद्दे पर केंद्र की मोदी सरकार को भी आड़े हाथों लेते हुए कि केंद्र की हो या प्रदेश की सरकार पूरी तरफ से विफल रही है। अब जुमलों की सरकार के अंत का वक्त आ गया है। उन्होंने रोजगार के आंकड़ों पर जोर देते हुए कहा कि में अगर हम आंकड़े देखें तो 2014 से लेकर 2016 तक केवल 4 लाख रोजगार मुहैया कराए गए हैं। जबकि हर साल दो करोड़ रोजगार उपलब्ध कराने का दावा किया गया था।

सिंधिया ने आगे कहा कि इनके चुनाव के जुमलों का अंत अब शुरू हो गया है। चार साल इनके कार्यकाल के समाप्त हो चुके हैं। अब जनता जवाब चाहती है। लोगों को नीचा दिखाना, इतिहास में जाना ही इस सरकार का काम है। उन्होंने कहा कि जब वाहन चलाया जाता है, तो रिअर व्यू मिरर में नहीं देखा जाता, कि कहीं हादसा न हो जाए। लेकिन, एनडीए सरकार की सोच हमेशा यही रही है।