आधार से मोबाइल नंबर लिंक नहीं तो पटवारी की उम्मीदवारी खत्म

प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (पूर्व का व्यापम) के नए नियम ने पटवारी बनने के इच्छुक हजारों उम्मीदवारों को निराश कर दिया है। पहली बार प्रदेश में पटवारी के करीब सवा दो हजार पदों पर भर्ती के लिए विज्ञापन जारी हुआ है। मोबाइल नंबर आधार कार्ड से लिंक नहीं होने पर परीक्षा के आवेदन स्वीकार नहीं किए जा रहे हैं।

शुक्रवार को पटवारी के लिए ऑनलाइन आवेदन जमा करने की अंतिम तारीख थी। इस दौरान मोबाइल-आधार लिंक की परेशानी के चलते प्रदेश के हजारों उम्मीदवार आवेदन जमा करने से वंचित रहे गए। उम्मीदवारों के अनुसार ऐसे कई लोग हैं जिनका आधार कार्ड में दर्ज मोबाइल नंबर बदल चुका है या फिर उन्होंने हाल ही में ईकेवायसी करवा कर उसे लिंक नहीं करवाया है।

गांवों के ऐसे कई निर्धन और महिला उम्मीदवार हैं जिनके पास अपना मोबाइल नहीं है। परिवार के अन्य सदस्यों के मोबाइल का उपयोग कर रहे हैं, ऐसे तमाम लोग आवेदन जमा नहीं कर सके हैं। उम्मीदवारों के मुताबिक आवेदन में दर्ज मोबाइल नंबर पर पीईबी वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) भेजता है। ऐसे में छूट होना चाहिए कि आवेदक अपने पास उपलब्ध मोबाइल नंबर लिख सके।

तारीख बढ़ाने की मांग

आधार और मोबाइल लिंक के अजीब नियम के बाद आधार पंजीयन सेंटरों और मोबाइल सर्विस प्रोवाइडरों के यहां अभ्यर्थियों की भीड़ लग गई है। इसके बावजूद काम नहीं हो पा रहा है। अधर में लटके अभ्यर्थी पीईबी से नियम में राहत देने और आवेदन जमा करने की तारीख बढ़ाने की मांग कर रहे हैं।

अनिवार्य किया गया

परीक्षा में गड़बड़ी रोकने के लिए आधार कार्ड को अनिवार्य किया गया है। जिन लोगों ने आधार से अपना मोबाइल लिंक नहीं किया है, उन्हें फॉर्म भरने में परेशानी आ रही है। हमारे स्तर से कोई तकनीकी समस्या नहीं है।