UPSC Civil Services Notification 2018: सिविल सर्विसेज परीक्षा के ऑनलाइन आवेदन शुरू

संघ लोक सेवा आयोग (UPSC ) ने सिविल सर्विसेज प्रीलिमिनरी एग्जामिनेशन 2018 की अधिसूचना जारी कर दी है। इसके साथ ही ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया भी शुरू हो गई है। सिविल सर्विसेज परीक्षा 2018 के लिए अब इच्छुक और योग्य उम्मीदवार ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। अधिसूचना बुधवार को ही जारी की गई है। तो चलिए अब सबसे पहले जानते हैं आवेदन प्रक्रिया के बारे में। आवेदन करने के लिए आपको वेबसाइट www.upsc.gov.in पर लॉगइन करना होगा। होम पेज पर ही सिविल ‘सर्विसेज प्रीलिमिनरी एग्जामिनेशन 2018’ के लिंक पर क्लिक करें। महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश ध्यान से पढ़ें। इसके बाद आवेदन प्रक्रिया पूरी करें। ऑनलाइन एप्लिकेशन फॉर्म वेबसाइट upsconline.nic.in पर उपलब्ध हैं।

बता दें 2017 में करीब 10 लाख कैंडिडेट्स ने सिविल सर्विसेज एग्जाम दिया था। सिविल सर्विसेस प्रीलिम्स 2018 के लिए उम्मीदवार 6 मार्च, 2018 तक आवेदन कर सकते हैं। आवेदन 6 मार्च, शाम 6 बजे तक ही कर सकेंगे। इसके अलावा इंडियन फॉरेस्ट सर्विसेज प्रीलिमिनरी एग्जामिनेशन 2018 का भी नोटिफिकेशन अलग से जारी किया गया है। यह परीक्षा भी सिविल सर्विसेज CS(P) के तहत होगी।

ऐसे करें आवेदन
-सबसे पहले विजिट करें वेबसाइट upsconline.nic.in पर
-अब ‘संघ लोक सेवा आयोग की विभिन्न परीक्षाओं के लिए ऑनलाइन आवेदन’ लिंक पर क्लिक करें
-क्लिक करने के बाद नई विंडो से आपको ‘सिविल सेवा (प्रारंभिक) परीक्षा 2018’ सिलेक्ट करना होगा
-आवेदन दो भागों में होगा।
-पहले भाग- I के जरिए रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया पूरी करें
-सभी दिशा-निर्देश ध्यान से पढ़ें और अपना रजिस्ट्रेशन कराएं
-रजिस्ट्रेशन पूरा होने के बाद, भाग- II के जरिए आवेदन प्रक्रिया पूरी करें
-भाग- II पर क्लिक करें
-पंजीकरण संख्या, जन्म तिथि डालें और कैप्शा कोड भरकर सब्मिट पर क्लिक करें

सिविल सर्विसेज की परीक्षा दो चरणों में होगी। पहले चरण में प्रीलिम परीक्षा होगी। इसमें ऑब्जेक्टिव टाइप सवाल होंगे। प्रीलिम्स के बाद मेन्स परीक्षा होती है। प्रीलिम्स क्वॉलिफाई करने वाले उम्मीदवार ही मेन्स परीक्षा में बैठ पाएंगे। इसमें लिखित परीक्षा और इंटरव्यू होगा। परीक्षा के लिए आवेदन (IAS और IPS) करने के लिए उम्मीदवार का भरतीय नागरिक होना अनिवार्य है। आयु सीमा 21 से 32 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

नोट: केन्द्रों का आवंटन ‘पहले आवेदन -पहले आवंटन’ के आधार पर किया जाएगा, और केंद्र की निर्धारित सीटें भर जाने पर इसे रोक दिया जाएगा। आवेदकों को इस प्रकार सलाह दी जाती है, कि वे जल्दी आवेदन करें जिससे वे अपनी पसंद का केंद्र चुन सके।