महंगाई में थोड़ी राहत, औद्योगिक उत्पादन में सुस्ती

नई दिल्लीः उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सी.पी.आई.) के आधार पर महंगाई में गिरावट दर्ज की गई है। जारी आंकड़ों के अनुसार महंगाई में थोड़ी राहत तो औद्योगिक उत्पादन में सुस्ती दिखाई दी। जनवरी में खुदरा महंगाई दर 5.07 प्रतिशत रही जबकि दिसम्बर में यह 5.21 प्रतिशत दर्ज की गई थी। वहीं, पिछले साल जनवरी में खुदरा महंगाई का आंकड़ा 3.17 प्रतिशत दर्ज किया गया था।

खुदरा महंगाई में गिरावट की मुख्य वजह फूड इन्फ्लेशन यानी खाने-पीने की चीजों की कीमतों में गिरावट रही। खुदरा खाद्य महंगाई दर इस साल जनवरी में 4.70 प्रतिशत रही, जो दिसम्बर 2017 में 4.96 प्रतिशत थी। वहीं, दिसम्बर 2017 में आई.आई.पी. (औद्योगिक उत्पादन) ग्रोथ 7.1 प्रतिशत के स्तर पर पहुंच गई, जबकि एक साल पहले समान महीने में यह आंकड़ा 2.4 प्रतिशत रहा था।

कैपिटल गुड्स और मैन्युफैक्चरिंग सैक्टर में अच्छी ग्रोथ
दिसम्बर 2017 में मैन्यूफैक्चरिंग सैक्टर की ग्रोथ बढ़कर 8.4 प्रतिशत हो गई, जबकि एक साल पहले यह आंकड़ा 0.6 प्रतिशत रहा था। कंज्यूमर ड्यूरेबल्स की ग्रोथ 0.9 प्रतिशत रही है, जबकि एक साल पहले यानी दिसम्बर 2016 में इसमें 5 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई थी। इन्फ्रास्ट्रक्चर गुड्स सैक्टर में 6.7 प्रतिशत की ग्रोथ रही, जबकि एक साल पहले यह आंकड़ा 5.5 प्रतिशत रहा था। इंटरमीडिएट गुड्स की ग्रोथ 6.2 प्रतिशत रही, जबकि एक साल पहले समान अवधि में ग्रोथ 2.1 प्रतिशत ही रही थी। दिसम्बर 2017 में कैपिटल गुड्स की ग्रोथ 16.4 प्रतिशत रही थी, जबकि एक साल पहले समान अवधि में 6.2 प्रतिशत की गिरावट रही थी।